Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Post Type Selectors
वृषणों की संरचना

वृषणों की संरचना, कार्य और हार्मोन को समझें (Understand Testes Structure, Function, and Hormones)

| 20 Jun 2024 | 67063 Views |

परिचय (Introduction)

जब पुरुष प्रजनन क्षमता (male fertility) और संपूर्ण स्वास्थ्य की बात आती है, तो वृषणों (testes) की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण होती है। ये छोटे, अंडाकार आकार के अंग (oval-shaped organs) शुक्राणु उत्पादन (sperm production) और आवश्यक हार्मोन स्राव (hormone secretion) के लिए जिम्मेदार होते हैं। इस ब्लॉग में, हम वृषणों की संरचना (structure of testes), उनके कार्य (functions), और उनके द्वारा स्रावित हार्मोन (hormones) के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे। अंत तक, आपके पास यह स्पष्ट तस्वीर होगी कि ये पहलू प्रजनन (fertility) और स्वास्थ्य (health) को कैसे प्रभावित करते हैं।

वृषणों की संरचना (Structure of Testes)

वृषण (testes) अंडकोष (scrotum) में स्थित होते हैं, जो त्वचा का एक थैली जैसा हिस्सा है जो शरीर के बाहर लटका रहता है। यह स्थिति उनके कार्य के लिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि थोड़ा ठंडा तापमान (cooler temperature) शुक्राणु उत्पादन (sperm production) के लिए आदर्श होता है।

बाहरी संरचना (External Structure)

अंडकोष (Scrotum): वृषणों को सुरक्षित रखने वाला थैली।
एपिडिडिमिस (Epididymis): प्रत्येक वृषण के पीछे एक कुंडलीदार नली (coiled tube) जहाँ शुक्राणु परिपक्व (sperm matures) होता है।

आंतरिक संरचना (Internal Structure)

सेमिनीफेरस ट्यूब्यूल्स (Seminiferous Tubules): ये छोटे नलिकाएं (tiny tubes) हैं जहां शुक्राणु का उत्पादन (sperm production) होता है। प्रत्येक वृषण में सैकड़ों ऐसी नलिकाएं होती हैं।
इंटरस्टिशियल सेल्स (Interstitial Cells): सेमिनीफेरस ट्यूब्यूल्स के बीच स्थित ये कोशिकाएं टेस्टोस्टेरोन (testosterone) और अन्य हार्मोन (hormones) स्राव करती हैं।

वृषणों के कार्य (Functions of the Testes)

वृषणों के मुख्य कार्य (main functions) हैं:

शुक्राणु उत्पादन (Sperm Production)

स्पर्माटोजेनेसिस (Spermatogenesis): यह शुक्राणु कोशिका विकास (sperm cell development) की प्रक्रिया है, जो सेमिनीफेरस ट्यूब्यूल्स (seminiferous tubules) में होती है। यह यौवनावस्था (puberty) में शुरू होती है और जीवनभर चलती रहती है।

हार्मोन स्राव (Hormone Secretion)

वृषण कई हार्मोन (hormones) स्राव करते हैं जो पुरुष विकास (male development) और प्रजनन कार्य (reproductive function) में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

वृषणों द्वारा स्रावित हार्मोन (Hormones Secreted by Testes)

वृषणों द्वारा स्रावित हार्मोन (hormones) विभिन्न शारीरिक कार्यों (bodily functions) को विनियमित करने और प्रजनन स्वास्थ्य (reproductive health) को बनाए रखने के लिए आवश्यक होते हैं।

टेस्टोस्टेरोन (Testosterone)

  • विकास में भूमिका (Role in Development): टेस्टोस्टेरोन (testosterone) पुरुष लक्षणों के विकास (development of male characteristics) के लिए महत्वपूर्ण है जैसे चेहरे के बाल (facial hair), गहरी आवाज़ (deep voice), और मांसपेशियों की वृद्धि (muscle mass)।
  • प्रजनन कार्य (Reproductive Function): यह कामेच्छा (libido), स्तंभन कार्य (erectile function), और शुक्राणु उत्पादन (sperm production) को विनियमित करने में मदद करता है।

अन्य हार्मोन (Other Hormones)

  • इन्हिबिन (Inhibin): यह हार्मोन शुक्राणु उत्पादन (sperm production) को विनियमित करने में मदद करता है।
  • एंड्रोजन्स (Androgens): ये हार्मोन समूह (group of hormones) हैं जो पुरुष और महिला दोनों में वृद्धि (growth) और प्रजनन (reproduction) में योगदान करते हैं।

निष्कर्ष (Conclusion)

वृषणों की संरचना (structure), कार्य (function), और हार्मोन (hormones) को समझना पुरुष प्रजनन स्वास्थ्य (male reproductive health) की सराहना के लिए आवश्यक है। वृषण न केवल शुक्राणु का उत्पादन (sperm production) करते हैं बल्कि टेस्टोस्टेरोन (testosterone) जैसे महत्वपूर्ण हार्मोन का स्राव (secrete) भी करते हैं, जो संपूर्ण स्वास्थ्य (overall health) और कल्याण (well-being) को प्रभावित करते हैं। इंडिया आईवीएफ फर्टिलिटी (India IVF Fertility) में, हम आपकी प्रजनन स्वास्थ्य (reproductive health) को समझने और प्रभावी रूप से प्रबंधित करने में मदद करने के लिए व्यापक देखभाल (comprehensive care) और जानकारी (information) प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। अधिक विशेषज्ञ जानकारी (expert insights) के लिए हमारी वेबसाइट पर जाएं या आज ही हमसे संपर्क करें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQs)

वृषणों का मुख्य कार्य शुक्राणु उत्पादन (sperm production) और हार्मोन, विशेषकर टेस्टोस्टेरोन (testosterone), का स्राव करना है।

अंडकोष वृषणों को शरीर के तापमान (body temperature) से थोड़ा ठंडा (cooler) रखता है, जो शुक्राणु उत्पादन (sperm production) के लिए आवश्यक है।

सेमिनीफेरस ट्यूब्यूल्स वृषण में छोटी नलिकाएं (tiny tubes) हैं जहां शुक्राणु का उत्पादन (sperm production) होता है।

टेस्टोस्टेरोन पुरुष लक्षणों (male characteristics) के विकास, कामेच्छा (libido), और समग्र प्रजनन स्वास्थ्य (overall reproductive health) के लिए आवश्यक है।

इंटरस्टिशियल सेल्स, जिन्हें लेयडिग कोशिकाएं (Leydig cells) भी कहा जाता है, सेमिनीफेरस ट्यूब्यूल्स के बीच में पाई जाती हैं और टेस्टोस्टेरोन (testosterone) का उत्पादन करती हैं।

स्पर्माटोजेनेसिस, शुक्राणु उत्पादन की प्रक्रिया (process of sperm production), में लगभग 64 दिन लगते हैं।

इन्हिबिन वृषण द्वारा स्रावित हार्मोन (hormone secreted by testes) है जो शुक्राणु उत्पादन (sperm production) को विनियमित करने में मदद करता है।

हां, वृषणों की संरचना (structure) या कार्य (function) में समस्याएं पुरुषों में प्रजनन समस्याएं (fertility issues) पैदा कर सकती हैं।

स्वस्थ जीवनशैली (healthy lifestyle), नियमित चेक-अप (regular check-ups), और हानिकारक पदार्थों से बचाव (avoiding harmful substances) स्वस्थ वृषण (healthy testes) बनाए रखने में मदद कर सकते हैं।

यदि आपको अपने वृषणों या प्रजनन स्वास्थ्य (reproductive health) के बारे में कोई चिंता है, तो सलाह और संभावित उपचार (advice and potential treatment) के लिए स्वास्थ्य सेवा प्रदाता (healthcare provider) से संपर्क करना महत्वपूर्ण है।

About The Author
Dr. Richika Sahay

MBBS (Gold Medalist), DNB (Obst & Gyne), MNAMS, MRCOG (London-UK), Fellow IVF, Fellow MAS, Infertility (IVF) Specialist & Gynae Laparoscopic surgeon,[Ex AIIMS & Sir Gangaram Hospital, New Delhi]. Read more

We are one of the Best IVF Clinic in India!

At India IVF Clinics we provide the most comprehensive range of services to cover all the requirements at a Fertility clinic including in-house lab, consultations & treatments.

    As per ICMR and PCPNDT Guidelines No Pre Natal Sex Determination is done at India IVF Clinic    As per ICMR and PCPNDT Guidelines Genetic Counselling can only be done in person

    Call Us Now

      Shop
      Search
      Account
      Cart