Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Post Type Selectors
शुक्राणु (स्पर्म) बढ़ाने के 21 सुरक्षित तरीके जो कोई आपको नहीं बताएगा!

शुक्राणु (स्पर्म) बढ़ाने के 21 सुरक्षित तरीके – जो कोई आपको नहीं बताएगा!

| 11 Aug 2023 | 3871 Views |

परिचय

नमस्ते दोस्तों! क्या आपने कभी सोचा है कि हमारे जीवन के सुख-शांति के साथ-साथ, नए जीवन की शुरुआत भी हमारे जीवन की सबसे खास घटना होती है? और जब बात नए जीवन की होती है, तो उसकी शुरुआत शुक्राणु (स्पर्म) से होती है। यह तो स्वयं ख़ुद बताता है कि शुक्राणु की महत्वपूर्णता क्या हो सकती है।

21 सुरक्षित तरीके शुक्राणु (स्पर्म) बढ़ाने के

  1. पौष्टिक आहार का सेवन: आपका खानपान आपके शुक्राणु के स्वास्थ्य को सीधे प्रभावित कर सकता है। ताजगी से भरपूर फल, सब्जियाँ और पूरे अनाज का सेवन करें।
  2. ह्यूमिक एसिड की खासतर स्रोतों का सेवन: ह्यूमिक एसिड, जैसे कि खजूर, बेल, और शहद का सेवन करने से शुक्राणु की मात्रा में वृद्धि हो सकती है।
  3. प्रोटीन और विटामिन युक्त आहार: प्रोटीन और विटामिन स्पर्म की संख्या में सुधार करने में मदद कर सकते हैं। अंडे, मछली, दुग्ध उत्पाद आदि खाएं।
  4. हिडन धातुओं का सेवन: सिंघाड़ा, मूंगफली, और कद्दू के बीज जैसी हिडन धातुएँ शुक्राणु की मात्रा में वृद्धि कर सकती हैं।
  5. नियमित व्यायाम: नियमित व्यायाम करना स्वास्थ्य के साथ-साथ शुक्राणु की संख्या में भी सुधार कर सकता है।
  6. विश्राम और निद्रा: सही मात्रा में निद्रा लेना भी शुक्राणु की संख्या के लिए महत्वपूर्ण है।
  7. स्ट्रेस प्रबंधन: स्ट्रेस कम करने के लिए योग और ध्यान का सहायक हो सकता है।
  8. तंबाकू और शराब से दूर रहें: तंबाकू और शराब के सेवन से बचें, क्योंकि ये शुक्राणु के स्वास्थ्य को नुकसान पहुँचा सकते हैं।
  9. अपने वजन को संतुलित रखें: अत्यधिक या अत्यधिक कम वजन शुक्राणु की संख्या में दिक्कत पैदा कर सकता है।
  10. प्रकृतिक पौष्टिक सुपारी का सेवन: सुपारी में बढ़िया तरीके से विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं जो शुक्राणु की मात्रा में वृद्धि कर सकते हैं।
  11. ब्रीफ पहनने से बचें: ब्रीफ पहनने से शुक्राणु की वृद्धि में दिक्कत हो सकती है, इसलिए ब्रीफ की बजाय लूज और कॉटन की अंडरवियर पहनें।
  12. घरेलू उपचारों का सेवन: कई घरेलू उपचार भी शुक्राणु की मात्रा को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं, जैसे कि शतावरी, अश्वगंधा और कौंच के बीज।
  13. नैचुरल सप्लीमेंट्स: नैचुरल सप्लीमेंट्स, जैसे कि फिश आयल और स्पर्म बूस्टर्स, शुक्राणु की मात्रा में वृद्धि करने में मदद कर सकते हैं।
  14. स्वस्थ जीवनशैली का पालन करें: आपकी जीवनशैली सीधे रूप से आपके शुक्राणु के स्वास्थ्य पर प्रभाव डालती है। तंबाकू और शराब की छोड़ाई, सही खानपान, नियमित व्यायाम आदि करें।
  15. सबसे महत्वपूर्ण मानवीय: स्वास्थ्य और रोग नियंत्रण संगठन (वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन) की जानकारी के अनुसार, योग के अभ्यास से आपका शरीर स्वस्थ और सकारात्मक बनता है और इससे आपके शुक्राणु के स्वास्थ्य में भी सुधार हो सकता है।
  16. व्यवस्थित सेक्स पार्टनर के साथ: व्यवस्थित सेक्स करने से शुक्राणु की संख्या में सुधार हो सकता है।
  17. अपनी खुशी का ख्याल रखें: आपकी खुशी भी आपके शुक्राणु के स्वास्थ्य पर प्रभाव डालती है। खुश रहने के लिए अपनी पसंदीदा गतिविधियों का समय निकालें।
  18. फाइबर से भरपूर आहार: फाइबर से भरपूर आहार का सेवन करने से आपका पाचन ठीक रहता है और इससे शुक्राणु की मात्रा में भी सुधार हो सकता है।
  19. हिडन सुपरफूड्स: तिल, खुरमानी, और खोजूर जैसे हिडन सुपरफूड्स का सेवन करने से शुक्राणु की मात्रा में वृद्धि हो सकती है।
  20. आपके विशेषज्ञ की सलाह लें: अगर आपको शुक्राणु की संख्या में कमी है, तो आपके विशेषज्ञ से सलाह लेना बेहद महत्वपूर्ण है।
  21. स्वास्थ्य संगठनों की जानकारी का सेवन करें: स्वास्थ्य संगठनों की जानकारी और गाइडलाइन्स का पालन करके आप शुक्राणु की संख्या में सुधार कर सकते हैं।

निष्कर्षण

इस लेख में हमने देखा कि शुक्राणु की संख्या को बढ़ाने के लिए कई सुरक्षित और प्रभावी तरीके होते हैं, जो हमारे स्वास्थ्य के साथ-साथ नए जीवन की शुरुआत को भी सफल बना सकते हैं। यदि आप अपने शुक्राणु की संख्या में सुधार पाना चाहते हैं, तो भारत आईवीएफ फर्टिलिटी क्लिनिक के साथ जुड़कर इस यात्रा में आगे बढ़ें।

याद रखें, स्वास्थ्य हमारे जीवन की सबसे मूल्यवान धरोहर है, और आपके शुक्राणु के स्वास्थ्य का ध्यान रखकर आप नए जीवन की महत्वपूर्ण यात्रा को सफल बना सकते हैं।

संदर्भ:

FAQs

हां, शुक्राणु की कमी से परेंट्स बनने में समस्या हो सकती है।

जी हां, आहार से शुक्राणु की संख्या पर प्रभाव पड़ता है। पौष्टिक आहार का सेवन करें और खानपान में सुधार करें।

हां, नियमित व्यायाम से शुक्राणु की संख्या में सुधार हो सकता है।

जी हां, अधिक स्ट्रेस शुक्राणु की संख्या को प्रभावित कर सकता है। स्ट्रेस प्रबंधन के लिए योग और मेडिटेशन का सहायक हो सकता है।

हां, तंबाकू और शराब का सेवन शुक्राणु की संख्या को प्रभावित कर सकता है।

हां, स्वस्थ जीवनशैली शुक्राणु की संख्या में सुधार कर सकती है। सही खानपान, नियमित व्यायाम, और स्वस्थ जीवनशैली का पालन करें।

हां, हिडन सुपरफूड्स शुक्राणु की संख्या में सुधार कर सकते हैं। तिल, खुरमानी, और खोजूर का सेवन करें।

हां, अगर शुक्राणु की संख्या कम है तो विशेषज्ञ सलाह लेना बेहद महत्वपूर्ण है।

हां, कई घरेलू उपचार भी शुक्राणु की संख्या में सुधार कर सकते हैं। शतावरी, अश्वगंधा और कौंच के बीज का सेवन करें।

जी हां, अपने वजन की मात्रा को संतुलित रखना शुक्राणु की संख्या में सुधार कर सकता है।

About The Author
Dr. Somendra Shukla

DNB, MRCPCH, Male Infertility Specialist Read more

We are one of the Best IVF Clinic in India!

At India IVF Clinics we provide the most comprehensive range of services to cover all the requirements at a Fertility clinic including in-house lab, consultations & treatments.

    As per ICMR and PCPNDT Guidelines No Pre Natal Sex Determination is done at India IVF Clinic    As per ICMR and PCPNDT Guidelines Genetic Counselling can only be done in person
    Shop
    Search
    Account
    Cart